मां बनना ही काफी मुशिकल काम है : काजोल

 

बॉलीवुड अभिनेत्री काजोल का कहना है कि एक मां बनना ही काफी मुशिकल काम है. और अगर वह सिंगल मदर होतीं हैं तो उसे दुगुना जिम्मेवारी अपने कन्धों पर लेनी पड़ती है. मसलन के तौर पर अगर कोई घर पर बीमार पद जाता है तो डॉक्टर का अपॉइंटमेंट, नल में पानी नहीं आये तो प्लम्बर को बुलाना, खाना बनाने से लेकर सभी काम खुद को करना पड़ता है, जी हां, गत मंगलवार को अपनी आनेवाली बॉलीवुड फिल्म हेलीकॉप्टर ईला के प्रचार के दौरान आई काजोल ने उपरोक्त बातें कहीं. यह फिल्म १२ अक्टूबर २०१८ को रिलीज़ हो रही. फिल्म में काजोल के आलावा टोटा, रिद्धि और नेहा धूपिया की भी अहम् भूमिका में हैं. इस फिल्म के निर्देशक प्रदीप सरकार हैं.

प्रदीप, रिद्धि, काजोल और टोटा

दरअसल हेलीकॉप्टर ईला एक सिंगल मदर की कहानी पर आधारित है. और हाल ही में फिल्म का ट्रेलर भी जारी कर दिया गया है.फिल्म के ट्रेलर में काजोल (ईला के किरदार में हैं) अपने बेटे के साथ पूरी लाइफ जीते नज़र आ रही हैं. लेकिन वही बीटा जब बड़ा हो जाता है तो एक मुकाम पर उसे मां का प्यार घुटन लगने लगता है.एकदिन वही बीटा घर छोड़ के चला जाता है. और तब ईला की ज़िन्दगी बदल जाती है. आगे क्या होता है इसके लिए आपको पूरी फिल्म थिएटर में जाकर देखना होगा.

रिद्धि और टोटा

काजोल ने भारतमित्र अख़बार के एक सवाल कि क्या आपको लगता है कि एक समय के बाद एक मां को उसके संतान से थोड़ी दूरी बन लेनी चाहिए, के जवाब में उन्होंने कहा, एक मां को कभी भी अपनी संतान को लेकर पोसेसिव नहीं होनी चाहिए. बल्कि मुझे तो लगता है कि वे अपने संतान को सब कुछ शेयर करें जो उसके मन में हैं. इससे संबंधों में दरारे नहीं पड़तीं.
फिल्म की टाइटल की अगर बात करें तो काफी अनयुजुअल है, पूछने पर काजोल ने कहा, आजकल सोशल नेटवर्किंग साईट में जाऊं तो एक शब्द का ज़्यादा इस्तेमाल हो रह है और वह है हेलीकॉप्टर मॉम, सो उसी सन्दर्भ में इस फिल्म का भी नामकरण हुआ है. ये तो सभी जानते हैं कि आजकल की सभी माताएं सर्वगुण संपन्न होती हैं और वे अकेले ही अपनी संतान की जिम्मेदारी उठाने में कामयाबी हासिल कर रही हैं. लेकिन एक बात बताना चाहूंगी कि मेरी मां हेलीकॉप्टर मॉम जैसी नहीं थीं.

प्रदीप जी एक खासियत यह है कि वे बंगाली संस्कृति को पुरे विश्व में शुमार करने का बीड़ा अपने कन्धों पर उठा लिया है. इस फिल्म में भी इसकी छवि दिखाई देगी. और जहां तक मेरे किरदार कि बात आती है टी इस तरह का किरदार मैंने पहले कभी नहीं निभाया है. आप लोग १२ अक्टूबर को प्लेसए थिएटर में जाकर इस फिल्म को अवश्य देखें, जी हां काजोल से जब निर्देशक प्रदीप सरकार के बारे में पुछा गया तो उन्होंने कुछ ऐसी ही बातें कहीं.

वही मौके पर उपस्थित फिल्म के एक और अभिनेता टोटा रॉयचौधरी ने इस फिल्म के बारे में बातचीत करते हुए कहा कि जब मेरे पास प्रदीप जी का इस फिल्म को लेकर फोन आया तो उन्होंने काजोल का जिक्र किया. तो पहले मैंने सोचा कि कोई नई लड़की होगी. पूछने पर उन्होंने कहा ये बॉलीवुड की काजोल है, जिसे सुनकर मैं एक पल के लिए अपनी होश खो बैठा था.
टोटा ने आगे कहा, यह फिल्म दर्शकों को ज़रूर पसंद आएगी.

मां और बेटे के संभंदों को लेकर बनी इस फिल्म को देखकर सभी अपने आप को जोड़ पाएंगे, जी हां कार्यक्रम के दौरान उपस्थित अभिनेता रिद्धि ने अपनी फिल्म को लेकर उपरोक्त बातें कहीं.

अंत में निर्देशक प्रदीप सरकार ने कहा, अगर आप अपने बच्चों के साथ घुल मिलकर रहना चाहते हैं, तो पहले उनके दोस्त बने. फिर जाकर आपको उनकी भावनाओं का सम्पूर्ण अहसास होने लगेगा.

अब सभी को १२ अक्टूबर का इंतज़ार रहेगा जब एकबार फिर काजोल की बेहतरीन अदाकारी का नज़ारा पर्दे पर दिखाई देगा.

 

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *