Download!Download Point responsive WP Theme for FREE!

२८ नवंबर को रिलीज़ होगी सांकल

ण्डित जगदीश चंद्र जोशी द्वारा प्रस्तुत पॉयशियन पिक्चर्स के बैनर तले बनी हिंदी फिल्म “साँकल” का प्रदर्शन 28 नवम्बर को कोलकाता समेत देश भर के चुनिंदा 8 शहरों में किया जा रहा है।
सार्थक सिनेमा की पैरवी करती कलात्मक फ़िल्म  “साँकल” के लेखक-निर्देशक देदीप्य जोशी हैं, वहीं निर्माता आनंद राठौड़ (जयपुर) व देदीप्य जोशी (मुम्बई) हैं। समाज में व्यापत बेमेल विवाह, बाल विवाह जैसी कुरीतियों पर कुठाराघात करने वाली ये फ़िल्म राजस्थान के गांवों में फिल्माई गई है, ये एक ऐसे गांव की कहानी है जो अपनी प्रथाओं व ऐसे सामाजिक बंधनों में जकड़ा हुआ है, जो समाज के लोगों को खुली हवा में सांस लेना मुश्किल कर देते हैं।
फ़िल्म के निर्माता-निर्देशक देदीप्य बताते हैं कि यह बॉक्स आफिस पर 100 करोड़ जमा करने वाली फ़िल्म ना होकर एक कला फ़िल्म है और यही कारण है कि “साँकल” 28 नवम्बर को केवल एक दिन एक शो में रिलीज़ हो रही है क्योंकि ऐसी इंडिपेंडेंट फिल्मो को सपोर्ट करने वाले डिस्ट्रीब्यूटर नही मिलते। देदीप्य के अनुसार इस थियेटर रिलीज़ के बाद “साँकल” को डिजिटल प्लेटफार्म पर जारी की जाएगा ताकि अधिक से अधिक दर्शक इस संदेशात्मक फ़िल्म को देख सके। फिलहाल कोलकाता के दर्शक “साँकल” को सिनेपोलिस, लेक मॉल में 29 नवम्बर को शाम 7:35 बजे से 9 के बीच देख सकते हैं।
देदीप्य ने आगे बताया कि इसमें नाटकों और एनएसडी के कलाकारों  तनिमा भट्टाचार्य, चेतन शर्मा, हरीश कुमार, मिलिंद गुणाजी और जयपुर के मूल निवासी जगत सिंह, समर्थ शांडिल्य, शोभा चंदर और भवानी जोशी ने अपने उत्कृष्ठ अभिनय के ज़रिए गहरी छाप छोड़ी है। देदीप्य ने इससे पहले 7 टीवी धारावाहिक, 35 डॉक्यूमेंट्री, 250 से अधिक विज्ञापन फिल्म तथा 3 लघु फिल्मों का निर्मान-निर्देशन किया है, “साँकल” पहली फ़िल्म है जो अब तक 46 फ़िल्ममहोत्सव का हिस्सा रह चुकी है तथा 14 पुरस्कार अपने नाम कर चुकी है, जिसमें एक पुरस्कार श्रेष्ठ निर्देशक का भी शामिल है।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *