फलक रशीद चांद तो हमेशा फलक पे ही होती है. पर हम उस चांद की बात कर रहे हैं जो ज़मीं पर है. जी हां, हम बात कर